बारकोड

अंतराष्टीय समाचार

हमारे अइम्मा अलैहिम सलवातुल्लाह

हम शियों का अक़ीदा है कि ख़ुदा वंदे आलम ने पैग़म्बरे इस्लाम (स) की रिसालत



अंतिम अद्यतन (शुक्रवार, 09 दिसम्बर 2011 15:34)

और पढ़ें ...

 

इमामत और इमाम की ज़रुरत

इमामत भी तौहीद व नबुव्वत की तरह उसूले दीन में से है। इमामत यानी पैग़म्बरे इस्लाम (स) की जानशीनी और दीनी व दुनियावी कामों में लोगों की रहबरी करना।

 

 

अंतिम अद्यतन (गुरुवार, 01 दिसम्बर 2011 12:51)

और पढ़ें ...

 

नबियों का मासूम होना

हम पिछले सबक़ में पढ़ चुके हैं कि नबियों के आने का मक़सद लोगों की हिदायत व रहबरी है और यह बात भी अपनी जगह मुसल्लम है कि अगर


 

अंतिम अद्यतन (शनिवार, 19 नवम्बर 2011 12:46)

और पढ़ें ...

 

दिक़्क़त

يا ويلتى ليتنى لم اتخذ فلانا خليلا

वाय हो मुझ पर, काश फ़लाँ शख़्स को मैंने अपना दोस्त न बनाया होता।

 

अंतिम अद्यतन (बुधवार, 16 नवम्बर 2011 12:42)

और पढ़ें ...

 

ज़िक्रे ख़ुदा

ऐ अज़ीज़म! इस राह को तै करने के लिए पहले सबसे पहले लुत्फ़े ख़ुदा को हासिल करने की कोशिश करो और कुरआने




अंतिम अद्यतन (गुरुवार, 10 नवम्बर 2011 14:43)

और पढ़ें ...

 
आलेख और अधिक ...
प्रपत्र कीजिये