बारकोड

مقالات انديشه اي

पैग़म्बरे इस्लाम (स) पश्चिमी विद्वानों की दृष्टि में

क़ुराने मजीद के सूरए अहज़ाब में ईश्वर कहता है कि, हे पैग़म्बर, हमने तुम्हें गवाह, शुभ सूचना देने वाला और (प्रकोप) से डराने वाला बनाकर भेजा है। अल्लाह की अनुमति से उसकी ओर आमंत्रित करने वाला और उज्जवल दीप बनाकर।

 

 

अंतिम अद्यतन (मंगलवार, 17 फरवरी 2015 21:08)

और पढ़ें ...

 

इमाम ख़ुमैनी, मानव प्रतिष्ठा की रक्षा करने वाले मार्गदर्शक

36 साल पहले ईरान की जनता ने इन्हीं दिनों में इतिहास के सबसे मधुर और मनमोहक कालखंड का अनुभव किया। जनता अपनी क्रान्ति को सफलता की दहलीज़ पर पहुंचाने के लिए इस प्रकार संघर्षरत थी कि सारी दुनिया इसे देखकर आश्चर्यचकित थी।

 

 

अंतिम अद्यतन (शनिवार, 07 फरवरी 2015 13:59)

और पढ़ें ...

 

इस्लामी क्रांति की सफलता-1

वरिष्ठ नेता ने ईरान की इस्लामी क्रांति के विरुद्ध साम्रज्यवादियों की शत्रुता के विश्लेषण में इस बिन्दु की ओर संकेत किया कि ईरान की इस्लामी व्यवस्था के विरुद्ध शत्रुता व द्वेष का आरंभ, क्रांति की सफलता के आरंभिक दिनों से ही हो गया था। यह धीरे धीरे गहरा एवं विस्तृत होता गया।

 


अंतिम अद्यतन (शनिवार, 07 फरवरी 2015 13:53)

और पढ़ें ...

 

नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार-24

हज़रत अली (अ) समस्त गुणों एवं विशेषताओं के स्वामी हैं। उनके व्यक्तित्व के असीम सागर में समस्त मानवीय सदगुण पाए जाते हैं। उनकी इबादत और बंदगी उनके सबसे विशिष्ट गुणों में से हैं।



अंतिम अद्यतन (मंगलवार, 03 फरवरी 2015 08:37)

और पढ़ें ...

 

ईश्वरीय वाणी-१५

इब्ने अब्बास के अनुसार, पैग़म्बरे इस्लाम (स) ने बद्र युद्ध में मुसलमान लड़ाकों के प्रोत्साहन के लिए इनामों की घोषणा की। इस घोषणा के कारण युवा सैनिकों ने गौरवपूर्ण वीरता के साथ युद्ध किया, लेकिन बूढ़े लोग झंडों के नीचे खड़े रहे।



अंतिम अद्यतन (मंगलवार, 03 फरवरी 2015 08:30)

और पढ़ें ...

 
आलेख और अधिक ...
प्रपत्र कीजिये